Advertisement Remove all ads

CBSE (Science) (Hindi Medium) Class 11 [११ वीं कक्षा] - CBSE Question Bank Solutions for Chemistry (रसायन विज्ञान)

Subjects
Topics
Subjects
Popular subjects
Topics
Advertisement Remove all ads
Advertisement Remove all ads
Chemistry (रसायन विज्ञान)
< prev  1 to 20 of 859  next > 

निम्नलिखित यौगिक के सूत्र लिखिए-

मरक्यूरी (II) क्लोराइड

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

निम्नलिखित यौगिक के सूत्र लिखिए-

निकल (II) सल्फेट

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

निम्नलिखित यौगिक के सूत्र लिखिए-

टिन (IV) ऑक्साइड

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

निम्नलिखित यौगिक के सूत्र लिखिए-

थेलियम (I) सल्फेट

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

निम्नलिखित यौगिक के सूत्र लिखिए-

आयरन (III) सल्फेट

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

निम्नलिखित यौगिक के सूत्र लिखिए-

क्रोमियम (III) ऑक्साइड

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

उन पदार्थों की सूची तैयार कीजिए, जिनमें कार्बन -4 से +4 तक की तथा नाइट्रोजन -3 से +5 तक की ऑक्सीकरण अवस्था होती है।

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

अपनी अभिक्रियाओं में सल्फर डाइऑक्साइड तथा हाइड्रोजन परॉक्साइड ऑक्सीकारक तथा अपचायक दोनों ही रूपों में क्रिया करते हैं, जबकि ओजोन तथा नाइट्रिक अम्ल केवल ऑक्सीकारक के रूप में ही। क्यों?

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

इन अभिक्रिया को देखिए -

\[\ce{6CO2(g) + 6H2O(l) -> C6H12O6(aq) + 6O2(g)}\]

बताइए कि इन्हें निम्नलिखित ढंग से लिखना ज्यादा उचित क्यों है?

\[\ce{6CO2(g) + 12H2O(l) -> C6H12O6(aq) + 6H2O(l) + 6O2(g)}\]

उपर्युक्त अपचयोपचय अभिक्रिया के अन्वेषण की विधि सुझाइए।

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

इस अभिक्रिया को देखिए-

\[\ce{O3(g) + H2O2(l) -> H2O(l) + 2O2(g)}\]

बताइए कि इसे निम्नलिखित ढंग से लिखना ज्यादा उचित क्यों है?

\[\ce{O3(g) + H2O2(l) -> H2O(l) + O2(g) + O2(g)}\]

उपर्युक्त अपचयोपचय अभिक्रिया के अन्वेषण की विधि सुझाइए।

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

"जब भी एक ऑक्सीकारक तथा अपचायक के बीच अभिक्रिया संपन्न की जाती है, तब अपचायक के आधिक्य में निम्नतर ऑक्सीकरण अवस्था का यौगिक तथा ऑक्सीकारक के आधिक्य में उच्चतर ऑक्सीकरण अवस्था का यौगिक बनता है।" इस वक्तव्य का औचित्य तीन उदाहरण देकर दीजिए।

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

इस प्रेक्षण की अनुकूलता को कैसे समझाएँगे?

यद्यपि क्षारीय पोटैशियम परमैंगनेट तथा अम्लीय पोटैशियम परमैंगनेट दोनों ही ऑक्सीकारक हैं। फिर भी टॉलूईन से बेंजोइक अम्ल बनाने के लिए हम एल्कोहॉलक पोटैशियम परमैंगनेट का प्रयोग ऑक्सीकारक के रूप में क्यों करते हैं? इस अभिक्रिया के लिए संतुलित अपचयोपचय समीकरण दीजिए।

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

इस प्रेक्षण की अनुकूलता को कैसे समझाएँगे?

क्लोराइडयुक्त अकार्बनिक यौगिक में सांद्र सल्फ्यूरिक अम्ल डालने पर हमें तीक्ष्ण गंध वाली HCI गैस प्राप्त होती है, परंतु यदि मिश्रण में ब्रोमाइड उपस्थित हो, तो हमें ब्रोमीन की लाल वाष्प प्राप्त होती है, क्यों?

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

निम्नलिखित अभिक्रिया में ऑक्सीकृत, अपचयित, ऑक्सीकारक तथा अपचायक पदार्थ पहचानिए-

\[\ce{2AgBr(s) + C6H6O2(aq) -> 2Ag(s) + 2HBr(aq) + C6H4O2(aq)}\]

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

निम्नलिखित अभिक्रिया क्यों होती है?

\[\ce{XeO^{4-}_6(aq) + 2F^-(aq) + 6H^+(aq) -> XeO3(g) + F2(g) + 3H2O(l)}\]

यौगिक Na4XeO6 (जिसका एक भाग \[\ce{XeO^{4-}_6}\] है) के बारे में आप इस अभिक्रिया में क्या निष्कर्ष निकाल सकते हैं?

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

निम्नलिखित अभिक्रियाओं में-

(क) \[\ce{H3PO2(aq) + 4AgNO3(aq) + 2H2O(l) -> H3PO4(aq) + 4Ag(s) +4HNO3(aq) }\]

(ख) \[\ce{H3PO2(aq) + 2CuSO4(aq) + 2H2O(l) -> H3PO4(aq) + 2Cu(s) + 2H2SO4(aq)}\]

(ग) \[\ce{C6H5CHO(l) + 2[Ag(NH3)2)]^+ (aq) + 3OH^-(aq) -> C6H5COO^-(aq) + 2Ag(s) + 4NH3(aq) + 2H2O(l)}\]

(घ) \[\ce{C6H5CHO(l) + 2Cu^2+(aq) + 5OH^-(aq)}\] कोई परिवर्तन नहीं।

इन अभिक्रियाओं से Ag+ तथा Cu2+ के व्यवहार के विषय में निष्कर्ष निकालिए।

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

आयन-इलेक्ट्रॉन विधि द्वारा निम्नलिखित रेडॉक्स अभिक्रियाओं को संतुलित कीजिए-

\[\ce{MnO^-_4(aq) + I^-(aq) -> MnO2(s) + I2(s)}\] (क्षारीय माध्यम)

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

आयन-इलेक्ट्रॉन विधि द्वारा निम्नलिखित रेडॉक्स अभिक्रिया को संतुलित कीजिए-

\[\ce{MnO^-_4(aq)  +SO2(g) -> Mn^2+(aq) + HSO^-_4(aq)}\] (अम्लीय माध्यम)

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

आयन-इलेक्ट्रॉन विधि द्वारा निम्नलिखित रेडॉक्स अभिक्रिया को संतुलित कीजिए-

\[\ce{H2O2(aq) + Fe^2+(aq) -> Fe^{3+}(aq) + H2O(l)}\] (अम्लीय माध्यम)

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ

आयन-इलेक्ट्रॉन विधि द्वारा निम्नलिखित रेडॉक्स अभिक्रिया को संतुलित कीजिए-

\[\ce{Cr2O^2-_7 + SO2(g) -> Cr^3+(aq) + SO^2-_4(aq)}\] (अम्लीय माध्यम)

[0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Chapter: [0.08] अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
Concept: अपचयोपचय अभिक्रियाएँ
< prev  1 to 20 of 859  next > 
Advertisement Remove all ads
Share
Notifications

View all notifications


      Forgot password?
View in app×