उमा की शिक्षा के विषय में प्रेमी और रामस्वरूप के विचार किस तरह अलग थे? इनमें से किसके विचार आप उचित मानते हैं और क्यों? - Hindi Course - A

Advertisements
Advertisements
Short Note

उमा की शिक्षा के विषय में प्रेमी और रामस्वरूप के विचार किस तरह अलग थे? इनमें से किसके विचार आप उचित मानते हैं और क्यों?

Advertisements

Solution

उमा की शिक्षा के विषय में प्रेमा और रामस्वरूप के विचार अलग-अलग थे। प्रेमा चाहती थी कि उमा को इंट्रेस तक ही पढ़ाया जाए जबकि रामस्वरूप उच्च शिक्षा के समर्थक थे। उन्होंने अपनी बेटी को कॉलेज में पढ़ाकर बी.ए. करवाया। मुझे इनमें से रामस्वरूप के विचार अधिक उचित लगते हैं क्योंकि शिक्षा से व्यक्ति का विकास होता है। उच्च शिक्षा पाकर व्यक्ति अपने पैरों पर खड़ा होता है। उसमें साहस आता है जिससे वह अपनी बात उचित ढंग से कह सकता है। शिक्षा स्त्री-पुरुष के बीच समानता लाने में सहायक होती है। इसके अलावा रामस्वरूप के विचार से स्त्रियाँ समाज में उचित सम्मान एवं गरिमा पाने की पात्र बनती हैं।

Concept: गद्य (Prose) (Class 9 A)
  Is there an error in this question or solution?
Chapter 3: रीढ़ की हड्डी - अतिरिक्त प्रश्न

APPEARS IN

NCERT Class 9 Hindi - Kritika Part 1
Chapter 3 रीढ़ की हड्डी
अतिरिक्त प्रश्न | Q 1

RELATED QUESTIONS

नौजवान के पानी में उतरते ही कुत्ता भी पानी में कूद गया। दोनों ने किन भावनाओं के वशीभूत होकर ऐसा किया?


माटी वाली’ की तरह ही कुछ महिलाएँ हमारे समाज में आज भी यातना झेल रही हैं। आप इनकी मदद कैसे कर सकते हैं, लिखिए।


लेखिका खुद और अपनी दो बहिनों को लेखन में आने का क्या कारण मानती है?


लेखक ने अपने किस निर्णय को घोंचूपन और पलायन करना कहा है?


छोटी बच्ची को बैलों के प्रति प्रेम क्यों उमड़ आया?


झूरी के पास वापस आए बैलों को देखकर बच्चों ने अपनी खुशी किस तरह व्यक्त की?


यात्रा-वृत्तांत गद्य साहित्य की एक विधा है। आपकी इस पाठ्यपुस्तक में कौन-कौन सी विधाएँ हैं? प्रस्तुत विधा उनसे किन मायनों में अलग है?


तिब्बत में उस समय यात्रियों के लिए क्या-क्या कठिनाइयाँ थीं?


‘सांस्कृतिक अस्मिता’ क्या है? ‘उपभोक्तावाद की संस्कृति’ का इस पर क्या असर पड़ा है?


जेबुन्निसा कौन थी? वह महादेवी की मदद कैसे करती थी?


Share
Notifications



      Forgot password?
Use app×