Advertisement Remove all ads

तोत्तो-चान सच बताए बिना क्यों नहीं रह सकी। - Hindi

Short Note

तोत्तो-चान सच बताए बिना क्यों नहीं रह सकी।

Advertisement Remove all ads

Solution

झूठ बोलने के अपराध बोध के कारण तोत्तो-चान बेचैन थी। वह सच बोले बिना नहीं रह सकी। स्टेशन तक उसे छोड़ने आए राकी को अंत में उसने बता दिया कि वह आज यासुकी-चान को अपने पेड़ पर चढ़ाने वाली है।

Concept: गद्य (Prose) (Class 7)
  Is there an error in this question or solution?
Advertisement Remove all ads

APPEARS IN

NCERT Hindi - Vasant Part 2 Class 7 CBSE
Chapter 10 अपूर्व अनुभव
अतिरिक्त प्रश्न | Q 17
Advertisement Remove all ads
Advertisement Remove all ads
Share
Notifications

View all notifications


      Forgot password?
View in app×