Advertisement Remove all ads

प्रकाश-विद्युत प्रभाव के एक प्रयोग में, प्रकाश आवृत्ति के विरुद्ध अन्तक वोल्टता की ढलान 4.12 x 10-15 Vs प्राप्त होती है। प्लांक स्थिरांक का मान परिकलित कीजिए। - Physics (भौतिक विज्ञान)

Advertisement Remove all ads
Advertisement Remove all ads
Numerical

प्रकाश-विद्युत प्रभाव के एक प्रयोग में, प्रकाश आवृत्ति के विरुद्ध अन्तक वोल्टता की ढलान 4.12 x 10-15 Vs प्राप्त होती है। प्लांक स्थिरांक का मान परिकलित कीजिए।

Advertisement Remove all ads

Solution

आइन्सटीन की प्रकाश-वैद्युत समीकरण है,

Ek = hv - Φ0

अथवा eV0 = hv - Φ0 

`"V"_0 = ("h"/"e") "v" - phi_0/"e"`

स्पष्टतः V0 - v ग्राफ का ढाल `"h"/"e"` है। 

दिया है, `"h"/"e" = 4.12 xx 10^-15` V-s

h = 4.12 × 10-15 e

= 4.12 × 10-15 × 1.6 × 10-19  

= 6.59 × 10-34 J-s

Concept: आइंस्टाइन के प्रकाश-विद्युत समीकरण - विकिरण का ऊर्जा क्वांटम
  Is there an error in this question or solution?
Advertisement Remove all ads

APPEARS IN

NCERT Physics Part 1 and 2 Class 12 [भौतिकी भाग १ व २ कक्षा १२ वीं]
Chapter 11 विकिरण तथा द्रव्य की द्वैत प्रकृति
अभ्यास | Q 11.6 | Page 409
Advertisement Remove all ads
Share
Notifications

View all notifications


      Forgot password?
View in app×