निर्जीव वस्तुओं को मानव-संबंधी नाम देने से निर्जीव वस्तुएँ भी मानो जीवित हो उठती हैं। लेखक ने इस पाठ में कई स्थानों पर ऐसे प्रयोग किए हैं, जैसे- - Hindi (हिंदी)

Advertisements
Advertisements
Answer in Brief

निर्जीव वस्तुओं को मानव-संबंधी नाम देने से निर्जीव वस्तुएँ भी मानो जीवित हो उठती हैं। लेखक ने इस पाठ में कई स्थानों पर ऐसे प्रयोग किए हैं, जैसे

(क) परंतु इस बार जब मैं हिमालय के कंधे पर चढ़ा तो वे कुछ और रूप में सामने थीं।

(ख) काका कालेलकर ने नदियों को लोकमाता कहा है।

• पाठ से इसी तरह के और उदाहरण ढूँढ़िए।

Advertisements

Solution

(i) संभ्रांत महिला की भाँति वे प्रतीत होती थीं।

(ii) जितना की इन बेटियों की बाल लीला देखकर।

(iii) बूढ़े हिमालय की गोद में बच्चियाँ बनकर ये कैसे खेल करती हैं।

(iv) हिमालय को ससुर और समुद्र को दामाद कहने में कुछ भी झिझक नहीं होती है।

Concept: गद्य (Prose) (Class 7)
  Is there an error in this question or solution?
Chapter 3: हिमालय की बेटियाँ - भाषा की बात [Page 16]

APPEARS IN

NCERT Class 7 Hindi - Vasant Part 2
Chapter 3 हिमालय की बेटियाँ
भाषा की बात | Q 2 | Page 16

RELATED QUESTIONS

स्वतंत्रता के महत्व को लिखिए?


बहुविकल्पी प्रश्नोत्तर

लेखक किस नदी के किनारे बैठा था?


पढ़ो और समझो

मित्रता + पूर्ण = मित्रतापूर्ण


काबुलीवाला हमेशा पैसे क्यों लौटा देता था?


अपने संस्कृत शिक्षक से पूछिए कि कालिदास ने हिमालय को देवात्मा क्यों कहा है?


कंचे खरीदने में अप्पू किसकी मदद लेना चाहता है और क्यों?


उन विज्ञापनों को इकट्ठा कीजिए जो हाल ही के ठंडे पेय पदार्थों से जुड़े हैं। उनमें स्वास्थ्य और सफ़ाई पर दिए गए ब्योरों को छाँटकर देखें कि हकीकत क्या है।


खानपान की नई संस्कृति का नकारात्मक पहलू क्या है? अपने शब्दों में लिखिए।


सुभद्रा कुमारी चौहान की कविता ‘झाँसी की रानी’ में किन-किन स्वतंत्रता सेनानियों के नाम आए हैं?


वीर कुंवर सिंह के जीवन से आपको क्या प्रेरणा मिलती है? लिखिए।


Share
Notifications



      Forgot password?
Use app×