Advertisement Remove all ads

निम्नलिखित के आशय स्पष्ट कीजिए - उनके गीत भाव-प्रवण थे − दुरूह नहीं। - Hindi Course - B

One Line Answer

निम्नलिखित के आशय स्पष्ट कीजिए -

उनके गीत भाव-प्रवण थे − दुरूह नहीं।

Advertisement Remove all ads

Solution

शैलेन्द्र के गीत सीधी-साधी भाषा में लिखे गए थे तथा सरसता व प्रवाह लिए हुए थे। इनके गीत भावनात्मक गहन विचारों वाले तथा संवेदनशील थे।

Concept: गद्य (Prose) (Class 10 B)
  Is there an error in this question or solution?
Advertisement Remove all ads

APPEARS IN

NCERT Hindi - Sparsh Part 2 Class 10 CBSE
Chapter 2.4 तीसरी कसम के शिल्पकार शैलेंद्र
लिखित (ग) | Q 5 | Page 95
Advertisement Remove all ads
Advertisement Remove all ads
Share
Notifications

View all notifications


      Forgot password?
View in app×