Advertisement Remove all ads

नीलकंठ की नृत्य-भंगिमा का शब्दचित्र प्रस्तुत करें। - Hindi (हिंदी)

Advertisement Remove all ads
Advertisement Remove all ads
Short Note

नीलकंठ की नृत्य-भंगिमा का शब्दचित्र प्रस्तुत करें।

Advertisement Remove all ads

Solution

मेघों के घिरते ही नीलकंठ के पाँव थिरकने लगते हैं। जैसे-जैसे वर्षा तीव्र से तीव्रतर होती उसके पाँवों में शक्ति आ जाती और नृत्य तेजी से होने लगता जो अत्यंत मनोहारी होता। नीलकंठ के पंख फैलाते ही इंद्रधनुष का दृश्य साकार हो उठता।

Concept: गद्य (Prose) (Class 7)
  Is there an error in this question or solution?
Advertisement Remove all ads

APPEARS IN

NCERT Class 7 Hindi - Vasant Part 2
Chapter 15 नीलकंठ
अनुमान और कल्पना | Q 2 | Page 117
Advertisement Remove all ads
Share
Notifications

View all notifications


      Forgot password?
View in app×