Advertisement Remove all ads

'मानवता ही सच्चा धर्म है' पर अपने विचार लिखिए | - Hindi [हिंदी]

Short Note

'मानवता ही सच्चा धर्म है' पर अपने विचार लिखिए |

Advertisement Remove all ads

Solution

यह सच है कि मानवता की सेवा करना ही सच्चा धर्म है | जो व्यक्ति शिव की उपासना करना चाहता है, उसे पहले उसकी संतानों की- इस संसार के सारे जीवों की सेवा करनी चाहिए | शास्त्रों में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि जो ईश्वर के संतानों की सेवा करते हैं वे ही भगवान के सबसे बड़े सेवक हैं | स्वार्थहीनता ही धर्म की कसौटी है | जो मानवता की सेवा लाभ की अपेक्षा किए बिना करते हैं, वे निश्चित रूप से ईश्वर के अधिक निकट होते हैं | स्वार्थी व्यक्ति तो सेवा में भी लाभ देखते हैं | विभिन्न तीर्थों की यात्रा करने से अच्छा है कि व्यक्ति किसी दुःखी-पीड़ित मानव की सेवा करे | ईश्वर निश्चित रूप से उसके अधिक निकट होगा | जो भगवान को दिन-हीन दुर्बल में और रोगी में देखता है, वही वास्तव में ईश्वर की उपासना करता है | इसलिए यह कहना बिलकुल सच है कि मानवता ही सच्चा धर्म है |

Concept: रचना विभाग (१० वीं कक्षा)
  Is there an error in this question or solution?
Advertisement Remove all ads

APPEARS IN

Balbharati हिंदी - कुमारभारती १० वीं कक्षा Hindi - Kumarbharati 10th Standard SSC Maharashtra State Board
Chapter 2.12 चलो आज हम दीप जलाएँ
अभिव्यक्ति | Q १. | Page 118
Advertisement Remove all ads
Advertisement Remove all ads
Share
Notifications

View all notifications


      Forgot password?
View in app×