लेखिका अंगदोरजी के साथ एवरेस्ट अभियान पर आगे क्यों चल पड़ी? - Hindi Course - B

Advertisements
Advertisements
One Line Answer

लेखिका अंगदोरजी के साथ एवरेस्ट अभियान पर आगे क्यों चल पड़ी?

Advertisements

Solution

लेखिका बचेंद्री पाल अंगदोरजी के साथ अभियान पर इसलिए चल पड़ी क्योंकि अंगदोरजी बिना आक्सीजन के चढ़ाई करने वाला था। इस कारण उसके पैर ठंडे पड़ जाते थे। वह ऊँचाई पर लंबे समय तक खुले में और रात्रि में शिखर कैंप पर नहीं जाना चाहता था। उसके साथ कोई और जाने को तैयार न था।

Concept: गद्य (Prose) (Class 9 B)
  Is there an error in this question or solution?
Chapter 2: बचेंद्री पाल - एवरेस्ट : मेरी शिखर यात्रा - अतिरिक्त प्रश्न

APPEARS IN

NCERT Class 9 Hindi - Sparsh Part 1
Chapter 2 बचेंद्री पाल - एवरेस्ट : मेरी शिखर यात्रा
अतिरिक्त प्रश्न | Q 12

RELATED QUESTIONS

'प्रभात की प्रथम किरण के स्पर्श के साथ ही वह किसी और जीवन में जागने के लिए सो गया' -का आश्य स्पष्ट कीजिए।


गिल्लू का प्रिय खाद्य क्या था? इसे न पाने पर वह क्या करता था?


लेखक का ऑपरेशन करने से सर्जन क्यों हिचक रहे थे?


लेखक को पुरस्कार स्वरूप मिली दोनों पुस्तकों का कथ्य क्या था? ‘मेरा छोटा-सा निजी पुस्तकालय’ के आधार पर लिखिए।


हामिद कौन था? उसे लेखक की किन बातों पर विश्वास नहीं हो रहा था?


"मैं चलता हूँ। अब आपकी बारी है।यहाँ पटेल के कथन का आशय उद्धृत पाठ के संदर्भ में स्पष्ट कीजिए।


पता कीजिए कि कौन-से साँप विषेले होते हैं? उनके चित्र एकत्र कीजिए और भित्ति पत्रिका में लगाइए।


सूर्योदय के 2-3 घंटे पहले पूर्व दिशा में या सूर्यास्त के 2-3 घंटे बाद पश्चिम दिशा में एक खूब चमकाता हुआ ग्रह दिखाई देता है, वह शुक्र ग्रह है। छोटी दूरबीन से इसकी बदलती हुई कलाएँ देखी जा सकती हैं, जैसे चंद्रमा की कलाएँ।


मणिभवन पर लोग क्यों आया करते थे?


लेखक ने लोगों के किन कार्यों को वाह्याडंबर कहा है और क्यों?


Share
Notifications



      Forgot password?
Use app×