इकट्ठा किए हुए टिकटों का अलग-अलग तरह से वर्गीकरण किया जा सकता है, जैसे-देश के आधार पर। ऐसे और आधार सोचकर लिखो। - Hindi (हिंदी)

Advertisements
Advertisements
Short Note

इकट्ठा किए हुए टिकटों का अलग-अलग तरह से वर्गीकरण किया जा सकता है, जैसे-देश के आधार पर। ऐसे और आधार सोचकर लिखो।

Advertisements

Solution

अगर वर्गीकरण के आधार पर ध्यान दें तो निम्नलिखित आधार पर टिकट का वर्गीकरण किया जा सकता है-

  1. देश के आधार पर
  2. रंगों के आधार पर
  3. छोटे तथा बड़े आकार के आधार पर
  4. मूल्य के आधार पर।
Concept: गद्य (Prose) (Class 6)
  Is there an error in this question or solution?
Chapter 9: टिकट अलबम - कहानी से आगे [Page 67]

APPEARS IN

NCERT Class 6 Hindi - Vasant Part 1
Chapter 9 टिकट अलबम
कहानी से आगे | Q 3 | Page 67

RELATED QUESTIONS

लेखिको को सप्ताह में कितनी बार चॉकलेट खरीदने की छूट थी?


हर शनिवार को लेखिका को क्या पीना पड़ता था?


“गैरों’ के लिए हमने क्या किया है?


इस पाठ के अनुसार मंगल ग्रह पर जन-जीवन था। वह सब नष्ट कैसे हो गया? इसे लिखिए?


नागराजन अपना अलबम सबको कब-कब और कैसे दिखाता था।

लेखिका को झरने का पानी कब आनंदित करता है?

बहुविकल्पी प्रश्न
किसी भाषा को सीखने के लिए सबसे पहले क्या सीखना होता है?


लेखक ने संसार को पुस्तक क्यों कहा है?


अगर मुझे इन चीज़ों को छूने भर से इतनी खुशी मिलती है, तो उनकी सुंदरता देखकर तो मेरा मन मुग्ध ही हो जाएगा।

  • अगर मुझे इन चीज़ों को छूने भर से इतनी खुशी मिलती है, तो उनकी सुंदरता देखकर तो मेरा मन मुग्ध ही हो जाएगा। ऊपर रेखांकित संज्ञाएँ क्रमशः किसी भाव और किसी की विशेषता के बारे में बता रही हैं। ऐसी संज्ञाएँ भाववाचक कहलाती हैं। गुण और भाव के अलावा भाववाचक संज्ञाओं का संबंध किसी की दशा और किसी कार्य से भी होता है। भाववाचक संज्ञा की पहचान यह है कि इससे जुड़े शब्दों को हम सिर्फ महसूस कर सकते हैं, देख या छू नहीं सकते। आगे लिखी भाववाचक संज्ञाओं को पढ़ो और समझो। इनमें से कुछ शब्द संज्ञा और क्रिया से बने हैं। उन्हें भी पहचानकर लिखो-

मिठास

भूख

शांति

भोलापन

बुढ़ापा

घबराहट

बहाव

फुर्ती

ताज़गी

क्रोध

मज़दूरी

अहसास

खपच्चियों को तैयार करने में किस बात का ध्यान रखा जाता है?


Share
Notifications



      Forgot password?
Use app×