Maharashtra State BoardSSC (English Medium) 5th Standard
Advertisement Remove all ads

चित्रवाचन करके अपने शब्दों में कहानी लिखो और उचित शीर्षक बताओ : १ आसमान में उड़ते ढेर सारे कबूतर | नीचे खड़ा बहेलिया | २ बहेलिए द्वारा जाल बिछाना, दाना बिखेरना | ३ कबू - Hindi [हिंदी]

Advertisement Remove all ads
Advertisement Remove all ads
Chart

चित्रवाचन करके अपने शब्दों में कहानी लिखो और उचित शीर्षक बताओ :

आसमान में उड़ते ढेर सारे कबूतर |
नीचे खड़ा बहेलिया |


बहेलिए द्वारा जाल बिछाना, दाना बिखेरना |

कबूतरों का दाना चुगना |


कबूतरों का जाल में फँसना |


बुजुर्ग कबूतर द्वारा समझाना |


कबूतरों का जाल समेत उड़ना |

हक्का-बक्का, दौड़ता हुआ बहेलिया |


दूर पहाड़ों की खाई में कबूतरों का जाल समेत उतरना |


१०

कबूतरों का मुक्त होकर उड़ना |

Advertisement Remove all ads

Solution

एकता का बल

एक बहेलिया एक दिन जाल लेकर वह शिकार करने निकला | उसकी थैली में अनाज के दाने थे | रास्ते में उसने बहुत सारे कबूतर उड़ते देखे |


उसने फौरन जमीन पर जाल बिछा दिया और वहाँ अनाज के दाने बिखेर दिए | वह पास के एक पेड़ के पीछे छिपकर खड़ा हो गया |

कबूतरों ने सुबह-सुबह दाने देखे तो वे नीचे उतरे और दाने चुगने लगे |


दाने चुगते-चुगते कबूतरों के पैर जाल में फँस गए | उन्होंने उड़ने का प्रयत्न किया, तो वे उड़ नहीं पाए |

तब एक बुजुर्ग कबूतर ने कबूतरों से कहा, "घबराओ मत, हिम्मत से काम लो | सब लोग मिलकर जाल के साथ उड़ चलो |"



उसकी सलाह मानकर सब कबूतर जाल के साथ उड़ गए | उड़ते-उड़ते वे आसमान में पहुँच गए |

बहेलिया हक्का-बक्का होकर उन्हें देखता रहा | वह कुछ दूर तक उनके पीछे दौड़, पर कबूतर उसकी पहुँच के बाहर हो गए थे |


उड़ते-उड़ते कबूतर एक पहाड़ पर पहुँचे | यहाँ बुजुर्ग कबूतर का दोस्त मुनमुन चूहा रहता था | बुजुर्ग कबूतर के कहने पर कबूतर जाल के साथ पहाड़ी पर उतरे |

९ 

बुजुर्ग कबूतर ने चूहे को आवाज दी | मुनमुन चूहा झटपट बाहर आया | उसने जाल काट कर कबूतरों को आजाद कर दिया |

१०

कबूतरों ने चूहे को धन्यवाद दिया और फिर खुश होकर वे आकाश में उड़ गए |

कबूतरों ने एक होकर प्रयत्न किया, इसलिए उनकी जान बच गई |

सीख : सचमुच एकता ही शक्ति है |  

Concept: लेखन (5th Standard)
  Is there an error in this question or solution?
Advertisement Remove all ads

APPEARS IN

Balbharati Hindi - Sulabhbharati 5th Standard Maharashtra State Board [हिंदी - सुलभभारती ५ वीं कक्षा]
Chapter 2.19 स्वयं सध्ययन
स्वयं अध्ययन | Q १. | Page 50
Advertisement Remove all ads
Share
Notifications

View all notifications


      Forgot password?
View in app×