Advertisement Remove all ads

अमीरुद्दीन के मामा की दिनचर्या की शुरुआत कैसे होती थी? - Hindi Course - A

Short Note

अमीरुद्दीन के मामा की दिनचर्या की शुरुआत कैसे होती थी?

Advertisement Remove all ads

Solution

अमीरुद्दीन के मामा देश के जाने-माने शहनाई वादक थे। उनकी दिनचर्या की शुरुआत बालाजी के मंदिर से होती थी। वे सर्वप्रथम इसी मंदिर की ड्योढ़ी पर आ बैठते और रोज बदल-बदलकर मुल्तानी, कल्याण, ललित और कभी भैरव राग सुनाते रहते थे। इसके बाद ही वे विभिन्न रियासतों के दरबार में शहनाई बजाने जाया करते थे।

Concept: गद्य (Prose) (Class 10 A)
  Is there an error in this question or solution?
Advertisement Remove all ads

APPEARS IN

NCERT Hindi - Kshitij Part 2 Class 10 CBSE
Chapter 16 यतींद्र मिश्र - नौबतखाने में इबादत
अतिरिक्त प्रश्न | Q 1
Advertisement Remove all ads
Advertisement Remove all ads
Share
Notifications

View all notifications


      Forgot password?
View in app×